HomeBlogVPN क्या है मोबाइल व कंप्यूटर पर कैसे उपयोग करें

VPN क्या है मोबाइल व कंप्यूटर पर कैसे उपयोग करें

ये पोस्ट VPN क्या है और इसके कार्य का तरीका व मोबाइल तथा कंप्यूटर पर कैसे और कौन सा VPN use करें इत्यादि के बारे में है।

VPN यानी Virtual Private Network की जरूरत आज इंटरनेट की तरक्की के साथ ही काफी ज्यादा बढ़ गई है। आज हर दिन कहीं ना कहीं साइबर ब्लैकमेलिंगफ्रॉड की खबरें आती रहती हैं।

ऐसे हमलों से बचने के लिए हमें VPN का उपयोग करना बहुत ही जरूरी है। ये उपयोग तब और जरूरी हो जाता है जब आप किसी Public नेटवर्क जैसे wifi का इस्तेमाल कर रहे हों।

VPN आज हमारे मोबाइल, टेबलेट व PC के लिए आसानी से उपलब्ध है। जिसमें से कुछ फ्री हैं तो कुछ Paid हैं।

VPN का उपयोग ज्यादातर दो तरह के कामों के लिए अधिक होता है-

1- Cyber Security (साइबर सुरक्षा)

2- By-passing country restriction on sites (देश में प्रतिबंधित साइट्स को एक्सेस करने के लिए)

जो सबसे महत्वपूर्ण है वो है VPN द्वारा encrypted सिक्योरिटी प्रदान करना। इस पोस्ट में हम इसके हर पहलू के बारे में विस्तार से जानेंगे।

VPN Kya hai

VPN एक ऐसी युक्ति है जिसमे आप किसी भी नेटवर्क (प्राइवेट या पब्लिक wifi) पर एक प्राइवेट tunnel बनाकर इंटरनेेट इस्तेमाल करते हैं।

VPN एक वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क है यानी इसके द्वारा जो भी चैट, मैसेजिंग, इंटरनेट सर्फिंग इत्यादि किया जाता है वो एक प्राइवेट डेटा की तरह यानी  Encrypted फॉर्म में आदान-प्रदान होता है।

डेटा एन्क्रिप्टेड होने की वजह से हैकर उस डेटा को अगर हैक भी कर लें तो किसी भी माध्यम से पढ़ नहीं सकते। इसतरह हमारी ब्राउज़िंग Safe रहती है।

इस तरह Users के डेटा की सिक्योरिटी और प्राइवेसी बनी रहती है।

इनका अधिकतर इस्तेमाल बड़ी बड़ी कॉर्पोरेट साइट्स, Government sites में संवेदनशील डेटा के सुरक्षा के लिए किया जाता है। जो कि VPN को बनाने का प्रारंभिक कारण था।

VPN Kaise kaam karta hai

VPN कंपनियां अपने तरफ से आपको एक IP address उपलब्ध कराती हैं और आपके IP एड्रेस को Hide कर देती हैं।

इस तरह आप उनके IP एड्रेस पर इंटरनेट ब्राउज़िंग करते हैं, लेकिन उनके पास आपका IP एड्रेस रहता है।

अब इसको ऐसे समझते हैं,

जैसे मानलीजिए XYZ नाम की कोई वेबसाइट है जो दुबई (UAE) में बैन है यानी दुबई में इसे एक्सेस नहीं किया जा सकता वहां ये Illegal यानी गैरकानूनी है। लेकिन अमेरिका में बैन नहीं है।

अब जब भी वो यूजर दुबई में कहीं से भी अपने ब्राउज़र में वो xyz का url डालेगा तो यूजर को इंटरनेट सर्विस प्रोवाइड कराने वाला ISP उसे ब्लॉक कर देगा। क्योंकि उस ISP को पता चल जाएगा कि ये दुबई का IP एड्रेस है।

तो इस साइट को दुबई का नागरिक एक्सेस करने के लिए अपने मोबाइल या कंप्यूटर पर VPN सर्विस एक्टिवेट करेगा।

एक्टिवेशन के दौरान वो अपना देश चुनेगा जिस देश में वो साइट बैन नहीं है यानी अमेरिका चुनेगा।

अब वो VPN कंपनी उसे अपनेे अमेरिकी सर्वर का एक IP एड्रेस उसे प्रोवाइड करा देगी जो ऑटोमैटिकली उसे सिर्फ क्लिक कर चुनना है।

अब दुबई के नागरिक का VPN सफलतापूर्वक अपने अमेरिकी सर्वर से जुड़ जाएगा।

इसके बाद वो यूजर VPN एप्लीकेशन को बैकग्राउंड में open ही छोड़कर अपने होम स्क्रीन पर आ जाएगा।

अब वो यूजर अपने ब्राउज़र से जब XYZ नाम की साइट का Url डालेगा तो यूजर का ISP (एयरटेल, आईडिया, वोडाफोन इत्यादि) यूजर की IP एड्रेस चेक करेगा तो वो दुबई का ही होगा लेकिन वो ये समझेगा की ये तो अमेरिका जा रहा है और उसे जाने देगा। 🙂 

क्योंकि यूजर जो भी सर्च करेगा वो भले ही दुबई में है लेकिन उसका नेटवर्क उसे Via अमेरिका ही behave करेगा। तो वो अमेरिका का होगा क्योंकि VPN कम्पनी यूजर की असली IP की जगह अमेरिका की IP शो करेगी। इसतरह वो नेट पर अमेरीकी नागरिक होकर ब्राउज़िंग करेगा।

और इस तरह वो साइट को Access कर पाएगा।
चूंकि VPN के डेटा encrypted फॉर्म में फ्लो होता है इसलिए दुबई का ISP सिर्फ डेटा को दुबई के नागरिक तक पहुंचाने का कार्य करेगा।

लेकिन वो Originally डेटा कहाँ से और क्या ला रहा है वो नहीं जान पाएगा।

हालांकि जानकारी के लिए बता दूं कि UAE में VPN को illegal कार्यों के लिए ना इस्तेमाल करें वरना वहां आपको करोडों रुपए जुर्माना भरना पड़ सकता है।

Free VPN vs Paid VPN

डिजिटल वर्ल्ड में कुछ भी पूरी तरह मुफ्त नहीं है। इसके लिए आपको किसी न किसी रूप में कुछ देना पड़ता है। जैसे-

Free VPN का इस्तेमाल अगर आप करना चाहते हैं सिर्फ टेस्ट के लिए तो भी अच्छी कंपनियों की VPN try करें जैसे- TunnelBear, Express VPN, Nord VPN इत्यादि।

इनमे आपको थोड़ा ही डेटा Use करने के लिए मिलेगा लेकिन Privacy को लेकर कोई चिंता नहीं होती।

फ्री VPN में आपको PPTP VPNs प्रोटोकॉल मिलते हैं जिसकी सिक्योरिटी layer कमजोर रहती है। पेड वर्जन में आपको L2TP, SSTP, SSH जैसे प्रोटोकॉल मिलते हैं जो काफी Secure होते हैं।

जबकि एंड्राइड मार्किट में आपको बहुत से Apps व softwares मिल जाएंगे जो बिल्कुल Free हैं। लेकिन ये आपकी Privacy को यानी Personal details को third पार्टी के हाथों बेच भी सकते हैं।

इसलिए हमारा सुझाव यही है कि कोशिश करें कि Paid Apps यानी Premium services का चुनाव करें और Tension फ्री रहें।

VPN for Mobile

Android Users के लिए गूगल Play Store पर बहुत से फ्री VPN Apps मौजूद हैं। जिनमें से कुछ निम्न हैं जो फ्री और काफी बढ़िया हैं जैसे-
Opera VPN – ये Android, Windows व  Mac तीनों के लिए उपलब्ध है। विंडोज व मैक के लिए आपको इसके ऑफिसियल साइट पर जाकर डाउनलोड करना होगा। (opera डॉट com)

Free VPN भी इस्तेमाल किया जा सकता है ये भी एंड्राइड के लिए बढ़िया VPN है।

Turbo VPN भी बढ़िया है इसकी रेटिंग भी अच्छी है।

– अगर आप टेस्ट करके Paid VPN इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके लिए Express VPN, Nord VPN बहुत ही बेहतर विकल्प है।

VPN for Computer

विंडोज के लिए VPN मौजूद हैं लेकिन एंड्राइड के मुकाबले थोड़े कम फीचर आफर करते हैं।

सभी अच्छे VPN सॉफ्टवेयर्स कुछ डेटा इस्तेमाल कर लेने के बाद उनकी फ्री subscriptions खत्म हो जाती है और फिर आपको प्रीमियम आफर खरीदना पड़ता है।

इस लिस्ट में भी अच्छे VPN एप्स मौजूद हैं जो निम्न हैं-

Opera- जी हां PC के लिए ओपेरा का डेवलपर सॉफ्टवेयर एक बेहतर और पूरी तरह मुफ्त VPN है। लेकिन ये आपको ओपेरा के ब्राउज़र में ही मिलेगा।

और अगर Paid use करना चाहते हैं तो TunnelBear, Express VPN को use कर सकते हैं।

अगर आप Techy हैं तो फिर VPN Book का भी इस्तेमाल कर सकते हैं जो एक फ्री सॉफ्टवेयर है। लेकिन इसमें आपको काफी कुछ Manually फिगर आउट करना होगा।

Conclusion

इस पोस्ट में हमने ये जाना कि VPN क्या है और कैसे काम करता है। इस पोस्ट का निष्कर्ष ये निकलता है कि आज के जमाने मे VPN बहुत ही जरूरी है। लेकिन साथ में ये सावधानी भी की जब भी Use करें Trusted और प्रीमियम कम्पनी की VPN सर्विस चुनें। अधिक जानकारी के लिए आप ये अंग्रेजी का पोस्ट भी पढ़ सकते हैं।

दोस्तों ! हमें उम्मीद है कि हमारा ये पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा। अगर आपके पास हमारे लिए कोई सुझाव है तो हमें कमेंट में जरूर बताएं। साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों व सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

 

इन्हें भी देखें

◆ Best वर्डप्रेस प्लगिन्स की जानकारी

◆ Keywords everywhere के एक्सटेंशन को एंड्राइड में कैसे इनस्टॉल करें, यहां क्लीक करें

◆ ब्रॉडबैंड internet क्या है कैसे काम करता है

◆ शेयर मार्केट क्या है – पूरी जानकारी जानकारी

◆ How to use a custom domain on blogger in hindi हिंदी में सीखें

◆ How to make a website in hindi a step by step hindi guide

◆ सरदार वल्लभभाई पटेल Biography व Statue of Unity

◆ बैंडविड्थ (Bandwidth) क्या है

◆ Top 5 Open source free एंटीवायरस PCs के लिए

◆ What is computer in hindi अंग, कार्य व इतिहास

Content Protection by DMCA.com

9 COMMENTS

  1. Thank you so much for the detailed information. I like your post a lot!
    Great job coming with such a post!.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

men Hoodies and Sweatshirts on SSD Vs HDD Vs SSHD Full Explained in Hindi
Content Protection by DMCA.com