How to Root android in hindi- हिंदी में Root apps व

0
208
views

Root करना वो Process है जिसके बाद आपका मोबाइल के ऑपरेटिंग सिस्टम पर full control हो जाता है।

जिसमे मोबाइल निर्माता और आपके Carrier की लिमिट्स हट जाती हैं।
आप अपने हिसाब से कोई भी कस्टमाइजेशन कर सकते हैं।

मोबाइल को Root करने की प्रक्रिया बहुत ही छोटी प्रक्रिया है। लेकिन Risky भी है।

आजकल एंड्राइड रुट शब्द थोड़ा सुनने में कम हो गया है। क्यों कि एंड्राइड खुद ही अपनेआप में एडवांस फीचर्स जोड़ रहा है।
लेकिन फिर भी जो फीचर्स आपको Root access से मिल सकते हैं वो बिना रुट वाले phones में नहीं मिल सकते।

Root करने से पहले

■ मोबाइल को रुट करने से पहले पर्याप्त चार्ज कर लें और अपने डेटा का बैकअप लेना ना भूलें।
रुट प्रोसेस के बीच मे मोबाइल पर दूसरे ऑपरेशन्स न करें।

■ अगर PC के through करना चाहते हैं Root apps प्रयोग करने से पहले अपने फोन में USB डिबगिंग को On करें इसके लिए ये फॉलो करें setting >developer option >USB debugging को इनेबल कर दें।

■ कुछ फोन बूटलोडर को अनलॉक करने की परमिशन नहीं देते जो root के लिए जरूरी होता है। अगर आप techy नहीं हैं तो One-click Root apps उपयोग करें।

■ जब भी रुट करना हो पहले एप्प की Official website पर जाके अपने फोन और मॉडल की जांच कर लें तथा प्रक्रिया भी समझ लें।

हर चीज के अपने कुछ फायदे तो कुछ नुकसान होते हैं। हम यहां पहले इन्हें जान लेते हैं।

Mobile root के फायदे

● अगर आपका मोबाइल Root किया हुआ है तो आप अपने एंड्राइड फोन के लिए लेटेस्ट अपडेट पा सकते हैं। यानी अगर आपका फोन 4.9 है तो फ़्लैश कस्टम रोम इनस्टॉल कर 5.0 वर्जन इनस्टॉल कर सकते हैं।

● अपने फ़ोन के मैनुफैक्चरिंग और carriers के बीच कनेक्शन को रोक सकते हैं।

● फ़ोन का फुल बैकअप लिया जा सकता है।

● आप अपने फोन के लिए डिफ़ॉल्ट fonts भी इनस्टॉल कर सकते हैं।

● सभी एंड्राइड फ़ोन कुछ Preinstalled यानी पहले से ही इन्सटाल्ड किए हुए apps के साथ आते हैं। एक बार रुट होजाने पर आप उन्हें हटा सकते हैं।

● सभी फ़ोन्स के साथ मोबाइल मेमोरी की लिमिट होती है। रुट के बाद आप उन्हें SD कार्ड यानी मेमोरी कार्ड पर मूव कर सकते हैं। ऐसा करने से मोबाइल की परफॉर्मेंस बढ़ जाती है।

● रुट के बाद आप अपने मोबाइल से गेम कंट्रोलर को कनेक्ट कर सकते हैं। जो गेम लवर्स को बहुत पसंद है। और इस तरह आपका फोन PC के जैसे काम करता है।

Rooted mobile connected with gaming controller

● बिना काम वाले Apps को हटा देने पर मोबाइल की बैटरी लाइफ बढ़ जाती है। क्यूं की ये एप्प्स बैकग्राउंड में चालू रहते हैं।

● सबके बाद हम ये कहेंगे कि Root के बाद आप अपने फोन के असली मालिक हो जाते हैं।
और कोई भी advanced एप्प्स जो रुट को सपोर्ट करते हैं उन्हें इनस्टॉल कर सकते हैं।

Root के नुकसान

◆ जब आप अपने फोन को Root करते हैं तो आप अपने फ़ोन की वारंटी इत्यादि खो (lost) देते हैं।

◆ अगर Root के Process के बीच कोइ गड़बड़ी हो गई तो आपका फोन हमेशा के लिए खराब हो सकता है।

◆ Root के बाद आप Play store के लिए होस्ट फ़ाइल Break हो जाने से आप Play store भी नहीं Use कर सकते।

◆ एप्लीकेशन अपडेट के लिए आपको मैन्युअली चेक करके अपडेट करना पड़ता है। क्योंकि ऑफिसियली आपको अपडेट सपोर्ट नहीं मिलता।

◆ Root करने के बाद malwares या spywares जैसे कई वायरस आपके फ़ोन में Deeply अटैक कर सकते हैं।

◆ हालांकि कई एप्स हैं जो Unroot के भी ऑप्शन देते हैं। जिसे आप अपने फ़ोन को फिर पहले वाली स्थिति में ला सकते हैं।

इनमें से कुछ PC के लिए हैं और कुछ सिम्पली मोबाइल एप्स हैं जो मोबाइल पर इनस्टॉल कर के रन करने पर root access किया जा सकता है।
अगर आपके पास PC,लैपटॉप हो तो root के लिए वो बेहतर होता है।
क्यों कि रुट की प्रक्रिया fail होने पर कभी कभी दुहराना भी पड़ जाता है। ये सब PC पर अच्छा रहता है।

किसी भी एंड्राइड फ़ोन को रुट करते समय अगर root करने का एप्लीकेशन पावरफुल ना होतो एंड्राइड फ़ोन बेकार हो सकता है।

इसलिए कभी भी जांचा-परखा Application ही Use करें।

हम यहां आपको कुछ Root apps के बारे में बता रहे हैं जो काफी विश्वसनीय व पावरफुल हैं।

Root Apps

KingoRoot –  ये एप्प एंड्राइड यूज़र्स के लिए सबसे ज्यादा लोकप्रिय है।
इसका apk और PC दोनों वर्जन एंड्राइड रुट के लिए उपलब्ध है।
ये लगभग सभी प्रमुख companies के मोबाइल्स को root access के लिए सपोर्ट करता है।
कोशिश रहनी चाहिए कि आपके मोबाइल नेटवर्क की speed अच्छी हो, क्यों कि KingoRoot का सर्वर एक साथ सभी फ़ाइल स्टोर नहीं कर सकता।
इसके लिए आपको बार बार दुहराना पड़ सकता है।

ये 2.3 एंड्राइड वर्जन से लेकर 6.0.1 तक सपोर्ट कर रहा है। जो काफी अच्छी बात है।One-click सपोर्ट प्रदान करता है।

इसका success rate भी हाई है। मतलब ये की बहुत से रूटिंग एप्प्स error दिखाते हैं रुट नहीं कर पाते इसके लिए PC वर्जन उपयोग करना पड़ता है।
इस tool की सबसे बड़ी खासियत ये है कि आप जब चाहें तब root access को इसके KingsuperUser के द्वारा Remove भी कर सकते हैं।

SuperuserRoot – ये एप्प भी अपनी विशेषता से KingoRoot जितना ही लोकप्रिय है।
ये एप्प एक Open source प्रोजेक्ट है।

इसमें आपको Pin-protection की सुविधा मिलती है। ये सुविधा अधिकांश Paid versions में ही उपलब्ध है।
इस एप्प को हमने दूसरे नम्बर पर इसलिए रखा है कि ये थोड़ा ऊपर वाले वर्जन की अपेक्षा मोबाइल के CPU का इस्तेमाल ज्यादा करता है।

अच्छी बात ये है कि इसका apk एंड्राइड रुट में भी अच्छा है।आपको PC पर करने की जरूरत नहीं पड़ती।
हालांकि 100% नहीं कह सकते।
इसका अपडेट भी बहुत ही जल्दी जल्दी मिलता है। इसके Open source प्रोजेक्ट होने के कारण ये app काफी अच्छा है और आपको paid apps की तरह इसमें किसी अमाउंट की चिंता नहीं है।इसमें सबकुछ ट्रांसपेरेंट (पारदर्शी) है।

VRoot – ये App भी काफी अच्छा है।MgYun द्वारा बनाया गया ये app भी काफी लोकप्रिय है। ये app भी One-click में रुट करता है।

इसकी मदद से root और unroot दोनों किया जा सकता है। ये 2.2 से 5.0 तक इस समय रुट सपोर्ट कर रहा है।
इसका दोनो वर्जन उपलब्ध है PC वर्जन पर करने के लिए व apk फ़ाइल एंड्राइड के लिए।

RootGenius – रुट जीनियस App चीन में बना हुआ एक बेहतर app है।
ये रुट करने में तेज व आसान है। कोई भी इसका
उपयोग आसानी से कर सकता है।
इसमें One-click रुट की सुविधा है जो किसी भी यूजर के लिए फ्रेंडली है।
ये लगभग 10,000 एंड्राइड फ़ोन्स को सपोर्ट करता है।
फ़्लैश कस्टम ROM, built-in apps को हटाने में इजी है।
ये अभी 2.2 से 6.0 एंड्राइड वर्जन तक को सपोर्ट करता है।

KingRoot – Android root करने के लिए ये App भी एंड्राइड यूज़र्स के बीच काफी लोकप्रिय व  उपयोग करने में बेहद ही आसान है।
इसका apk one-click रुट की सुविधा देता है।

समय समय पर इसके updates आते रहते हैं।
इस वक़्त ये 2.2 से लेकर 5.1 और उसके आगे के एंड्राइड वर्जन को सपोर्ट करता है।

इसका mobile और PC वर्जन दोनों उपलब्ध है।

BaiduRoot – ये एप्प भी android रुट के लिए काफी बढ़िया एप्प है।
इससे आप 2.2 से 4.4 तक के एंड्राइड वर्जन्स का root access कर सकते हैं।
ये लगभग सभी मुख्य मोबाइल मॉडल्स को सपोर्ट करता है।
ये One-click की सुविधा नहीं देता यानी आपको रूट करने से पहले फोन को अनलॉक (Bootloader) करने की जरूरत होगी।

SRS Root – ये App भी काफी अच्छा है जो PC (windows) की सहायता से किसी भी एंड्राइड को रुट कर सकता है।
क्योंकि इसमें कई Exploits हैं जो रुट करने में सुविधा देते हैं।

Root हुआ या नहीं कैसे Check करें

इसको Test करने के लिए आप अपने मोबाइल में Root checker Basic एप्लिकेशन का इस्तेमाल कर वेरीफाई कर सकते हैं।

और भी किए root apps हैं जिनकी आप मदद ले सकते हैं।

दोस्तों अगर आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आई हो तो सो सोशल मीडिया व अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here